स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त वतन-परस्ती देश-भक्ति शायरी

स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त देश भक्ति शायरी

 मेरा देश महान मेरा देश बदल रहा है आगे बढ़ रहा है

15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर वतन-परस्ती देश-भक्ति शायरी

– आजादी की शायरी

अपने मंसूबों को नाकाम नहीं करना है
मुझको इस उम्र में आराम नहीं करना है

अपनी चाहत का यूँ पता देना
सामना हो तो मुस्करा देना

अब तो मजहब कोई ऐसा चलाया जाए
जिसमें इंसान को इंसान बनाया जाए

इस जहाँ में प्यार महके जिंदगी बाकी रहे
ये दुआ मांगो दिलों में रोशनी बाकी रहे

अपना ग़म लेके कही और न जाया जाए
घर में बिखरी हुई चीज़ों को सजाया जाए

अबके सावन में शरारत ये मेरे साथ हुई
मेरा घर छोड़कर कुल शहर में बरसात हुई

अपने खेतों से बिछड़ने की सज़ा पाता हूं
अब मैं राशन की क़तारों में नज़र आता हूं ————–जय हिन्द ।।

देश-भक्ति शायरी

बस ये बात हवाओं को बताये रखना,
रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना,
लहू देकर जिसकी हिफाज़त की शहीदों ने,
उस तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना

मुझे तन चाहिए , ना मुझे धन चाहिए,
बस अमन से भरा मेरा वतन चाहिए,
जिन्दा रहूं तो इस मातृ-भूमि के लिए,
और जब मरू तो तिरंगा कफ़न चाहिये

जिन्हें है प्यार वतन से, वो देश के लिए अपना लहू बहाते हैं,
माँ की चरणों में अपना शीश चढ़ाकर, देश की आजादी बचाते हैं,
देश के लिए हँसते-हँसते अपनी जान लुटाते हैं

उनके हौसले का भुगतान क्या करेगा कोई ?
उनके बलिदान का कर्ज देश पर उधर है,
आप और हम इसलिए खुशहाल है क्योकि,
सीमा पर सपूत बलिदान को तैयार है

है लिये हथियार दुश्मन ताक में बैठा उधर,
और हम तैयार हैं सीना लिये अपना इधर।
खून से खेलेंगे होली अगर वतन मुश्किल में है,
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है————–जय हिन्द ।।

शहीदों पर शायरी

यहाँ आरती है अज़ान है, हिन्दू हैं मुसलमान हैं,
है गर्व मुझे इस देश पर क्यूंकि ये मेरा हिन्दुस्तान है ।

आजाद, भगत सिंह जैसे इस देश में जन्में वीर यहाँ
कुर्बानी की इनकी गाथाएं गता है ये सारा जहाँ।

भ्रष्टाचार, बेरोजगारी जैसे पापों का जब पतन होगा
हो जाएगा खुशहाल ये जीवन खुशहाल ये मेरा वतन होगा ।

हाथ जोड़कर नमन जो करते, मत समझो कि कमजोर हैं
हम उठाओ कथायें जो इतिहास की छाये हुए हर ओर हैं हम।

सच्चाई की राह पर चलते नहीं मन में कोई बुरी भावना
उन्नत हो ये देश हमारा अपनी तो बस यही कामना।

वतन पर शायरी

आओ झुकर सलाम करे उनको जिनके हिस्से मे ये मुकाम आता है
खुसनसीब है वो खून जा देश के काम आता है ।

जिन्हें है प्यार वतन से, वो देश के लिए अपना लहू बहाते हैं
माँ की चरणों में अपना शीश चढ़ाकर, देश की आजादी बचाते हैं
देश के लिए हँसते-हँसते अपनी जान लुटाते है ।

कभी सनम को छोड़ के देख लेना, कभी शहीदों को याद करके देख लेना
कोई महबूब नहीं है वतन जैसा यारो, देश से कभी इश्क करके देख लेना ।

कर जस्बे को बुलंद जवान
तेरे पीछे खड़ी आवाम
हर पत्ते को मार गिरायेंगे
जो हमसे देश बटवायेंगे ।

ज़माने भर में मिलते हैं आशिक कई
मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता
नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे हैं शासक कई
मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता ।

You Must Read

Happy Diwali Photo Shayari Message 2017 दीपावली के इस पावन अवसर पर अपने सभी रिश्तेदारों शुभ चिंत कों और दोस्तों आपसे दूर हैं उन्हें Whatsapp...
Murari Ki Cocktail Full HD Video MP4 Download 2017 दोस्तों आज हम फिर से (Murari Ki Kocktail) मुरली कि कोकटेल youtube चेनल पर एक और विडियो उपलोड कि गयी ...
31 अक्टूबर इंदिरा गाँधी की पुण्यतिथि जयंती दिवस जी... हेलो दोस्तों 31 अक्टूबर का दिन महत्वपूर्णदिन माना जाता है इस दिन एक साथ 4 चार दिवस मनाया जाता है जिस...
Best Deepavali Full HD Wallpapers 2017 हेलो दोस्तो हम आप के लिए लेकर आए है दीपावली की फुल HD वॉलपेपर जो आप अपने रिश्तेदार और अपने मित्रों य...
Funny Jokes Shayari SMS in Hindi Facbook Whatapp BEST Funny Jokes Shayari in Hindi Facbook Whatapp Funny Jokes Shayari Husband Wife कल एक साधु बा...
मनुष्ये जीवन में काम आनेवाले महत्वपूर्ण अनमोल वचन...  सर्वश्रेष्ठ प्रेरणादायक अनमोल वचन जीवन में कम आनेवाले प्रेरणादायक अनमोल वचन एक मिनट में जिन...
जुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर दिवस 7 अगस्त 2017 जीवन... गुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर जीवनी महत्वपूर्ण अनमोल वचन जुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर जीवन परिचय नाम  :...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *