लालबहादुर शास्त्री जन्म दिवस पर भाषण व जीवन परिचय

लालबहादुर शास्त्री जन्म दिवस भाषण:आदरणीय प्रधानाध्यापक शिक्षकगण और मेरे प्यारे दोस्तों आप सभी को 2 अक्टूबर की सुबह का नमस्कार हम सभी जानते है की लालबहादुर शास्त्री जन्म दिवस 2 अक्टूबर को हर साल मनाई जाता है इस दिन सभी विद्यालयों और कोलेज में लालबहादुर शास्त्री के जीवन उनके विचारों पर कविता भाषण प्रस्तुत किये जाते है लालबहादुर शास्त्री जन्म दिवस एक ऐसा अवसर है जिसमे हमे एक ऐसें महान महापुरुष को याद कर उनकी राह पर चलने का संकल्प करना चाहिए जिन्होंने सम्पन्न स्वतंत्र और एक स्वच्छ भारत की कल्पना की थी आज हम हमारे देश के प्रधानमन्त्री लालबहादुर शास्त्री का जन्म दिवस जयंती मनाने के लिए यहाँ एकत्रित हुए है लालबहादुर शास्त्री जन्म दिवस के इस पावन अवसर पर आज 2 अक्टूबर का दिन है आज ही के दिन भारत के प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री का जन्म 1904 में मुगलसराय (उत्तर प्रदेश) में मुंशी शारदा प्रसाद श्रीवास्तव के यहाँ हुआ था। उनके पिता प्राथमिक विद्यालय में शिक्षक थे अत सब उन्हें मुंशीजी ही कहते थे बाद में उन्होंने राजस्व विभाग में लिपिक (क्लर्क) की नौकरी कर ली थी लालबहादुर की माँ का नाम रामदुलारी था परिवार में सबसे छोटा होने के कारण बालक लालबहादुर को परिवार वाले प्यार में नन्हें कहकर ही बुलाया करते थे जब नन्हें अठारह महीने का हुआ दुर्भाग्य से पिता का निधन हो गया उसकी माँ रामदुलारी अपने पिता हजारीलाल के घर मिर्ज़ापुर चली गयीं कुछ समय बाद उसके नाना भी नहीं रहे बिना पिता के बालक नन्हें की परवरिश करने में उसके मौसा रघुनाथ प्रसाद ने उसकी माँ का बहुत सहयोग किया ननिहाल में रहते हुए उसने प्राथमिक शिक्षा ग्रहण की। उसके बाद की शिक्षा हरिश्चन्द्र हाई स्कूल और काशी विद्यापीठ में हुई। काशी विद्यापीठ से शास्त्री की उपाधि मिलने के बाद उन्होंने जन्म से चला आ रहा जातिसूचक शब्द श्रीवास्तव हमेशा हमेशा के लिये हटा दिया और अपने नाम के आगे ‘शास्त्री’ लगा लिया। इसके पश्चात् शास्त्री शब्द लालबहादुर के नाम का पर्याय ही बन गया 1928 में उनका विवाह मिर्जापुर निवासी गणेशप्रसाद की पुत्री ललिता से हुआ ललिता शास्त्री से उनके छ: सन्तानें हुईं, दो पुत्रियाँ-कुसुम व सुमन और चार पुत्र-हरिकृष्ण, अनिल, सुनील व अशोक।

भारतीय स्वाधीनता संग्राम के सभी महत्वपूर्ण आन्दोलनों में उनकी सक्रिय भागीदारी  :-
संस्कृत भाषा में स्नातक स्तर तक की शिक्षा समाप्त करने के पश्चात् वे भारत सेवक संघ से जुड़ गये और देशसेवा का व्रत लेते हुए यहीं से अपने राजनैतिक जीवन की शुरुआत की। शास्त्रीजी सच्चे गान्धीवादी थे जिन्होंने अपना सारा जीवन सादगी से बिताया और उसे गरीबों की सेवा में लगाया भारतीय स्वाधीनता संग्राम के सभी महत्वपूर्ण कार्यक्रमों व आन्दोलनों में उनकी सक्रिय भागीदारी रही और उसके परिणाम उन्हें कई बार जेलों में भी रहना पड़ा स्वाधीनता संग्राम के जिन आन्दोलनों में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही उनमें 1921 का असहयोग आंदोलन, 1930 का दांडी मार्च तथा 1942 का भारत छोड़ो आन्दोलन उल्लेखनीय हैं।दूसरे विश्व युद्ध में इंग्लैण्ड को बुरी तरह उलझता देख जैसे ही नेताजी ने आजाद हिन्द फौज को “दिल्ली चलो” का नारा दिया, गान्धी जी ने मौके की नजाकत को भाँपते हुए 8 अगस्त 1942 की रात में ही बम्बई से अँग्रेजों को “भारत छोड़ो” व भारतीयों को “करो या मरो” का आदेश जारी किया और सरकारी सुरक्षा में यरवदा पुणे स्थित आगा खान पैलेस में चले गये। 9 अगस्त 1942 के दिन शास्त्रीजी ने इलाहाबाद पहुँचकर इस आन्दोलन के गान्धीवादी नारे को चतुराई पूर्वक “मरो नहीं, मारो!” में बदल दिया और अप्रत्याशित रूप से क्रान्ति की दावानल को पूरे देश में प्रचण्ड रूप दे दिया। पूरे ग्यारह दिन तक भूमिगत रहते हुए यह आन्दोलन चलाने के बाद 19 अगस्त 1942 को शास्त्रीजी गिरफ्तार हो गये
शास्त्रीजी के राजनीतिक दिग्दर्शकों में पुरुषोत्तमदास टंडन और पण्डित गोविंद बल्लभ पंत के अतिरिक्त जवाहरलाल नेहरू भी शामिल थे सबसे पहले 1929 में इलाहाबाद आने के बाद उन्होंने टण्डनजी के साथ भारत सेवक संघ की इलाहाबाद इकाई के सचिव के रूप में काम करना शुरू किया। इलाहाबाद में रहते हुए ही नेहरूजी के साथ उनकी निकटता बढी। इसके बाद तो शास्त्रीजी का कद निरन्तर बढता ही चला गया और एक के बाद एक सफलता की सीढियाँ चढते हुए वे नेहरूजी के मंत्रिमण्डल में गृहमन्त्री के प्रमुख पद तक जा पहुँचे और इतना ही नहीं, नेहरू के निधन के पश्चात भारतवर्ष के प्रधान मन्त्री भी बने।

You Must Read

302 Lagwawegi Full HD Video MP3 Latest Haryanvi So... Sonotek Cassettes Present A Latest New Haryanvi DJ Remix Full HD Video Song 2017 The Song Name 302 L...
RBSE 12th Board Class OF Arts Commerce Science Res... राजस्थान बोर्ड अजमेर के द्वारा 12 वीं आर्ट्स कॉमर्स और साइंस क्लास की परिक्षा २०१७ सफलता पूरक पूर्ण ...
New Haryanvi Jhol Kasuti Rammehla Super Hit Dj Son... 2017 का सबसे हिट गाना - झोल कसूती - Jhol Kasuti - Rammehar Mehla - Superhit Haryanvi Songs 2017 न्य...
Vivo IPL 2017 Royal Challengers Benglalore Vs Mum... VIVO IPL 2017 38 Match Between Royal Challengers Benglalore Vs Mumbai Indians Match , in Wankhede St...
Diwali 2017 Subh Muhrat Puja Vidhi Importence Diwali 2017 Subh Muhrat Puja Vidhi : धनतेरस: मंगलवार, 17 अक्टूबर 2017 नरक चतुर्दशी (छोटी दीवाली): ब...
New Dance V K John And Janu Rakhi DJ Song 2017 Cha... Hello Friends Watch The New Dance Chaal Kasuti Latest DJ Song By V K John, Sunny Sunny , Crystal On ...
स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त वतन-परस्ती देश-भक्ति शायर... स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त देश भक्ति शायरी 15 अगस्त पर स्वतंत्रता सेनानियों के क्रांतिकारी नारे ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *