why is good friday celebrated or Good Friday 2017 Images Message quotes

गुड़ फ्राई डे के दिन कई लोग इस दिन मिलने वाली छुट्टी को लेकर उत्सुक है। गुड फ्राइडे के दिन ईसाई धर्म के अनुयायी गिरजाघर जाकर प्रभु यीशु को याद करते हैं। क्या आपने कभी सोचा है कि ये फ्राइडे ‘गुड’ क्यों है।

गुड फ्राइडे प्रभु यीशु के निर्वाण दिवस के रूप में मनाया जाता है। सही मायनों में यह प्रभु यीशु द्वारा मानवता के लिए प्राणों को न्यौछावर करने का दिन है। इस बार गुड फ्राइडे 14 अप्रैल को हैं | गुड फ्राइडे के दिन ईसाई धर्म को मानने वाले अनुयायी गिरजाघर जाकर प्रभु यीशु को याद करते हैं.ईसा मसीह के जन्म क्रिसमस का आनंद मनाने के कुछ ही दिन बाद ईसाई तपस्या, प्रायश्चित्त और उपवास का समय मनाते हैं. यह समय जो ‘ऐश वेडनस्डे’ से शुरू होता हैं और रविवार को समाप्त होता हैं |

Good Friday Vishu New year Happy Good Friday

ईसाई धर्मानुसार ईसा मसीह परमेश्वर के पुत्र थे। ईसा मसीह को यीशु के नाम से भी पुकारा जाता है। “गुड फ्राइडे”(Good Friday) के दिन ही उन्हें क्रॉस फांसी पर लटकाया गया था। इस दिन जीवनभर लोगों में प्रेम और विश्वास जगाने वाले प्रभु यीशु को याद किया जाता है और उनके उपदेशों को सुनाया जाता है। गुड फ्राइडे के दिन श्रद्धालु प्रेम, सत्य और विश्वास की डगर पर चलने का प्रण लेते हैं। कई जगह लोग इस दिन काले कपड़े पहनकर शोक व्यक्त करते हैं।

बाईबिल के अनुसार, यीशु मसीह का जन्म इजराइल के एक गांव बेतलेहम में हुआ था। बालक यीशु को बेतलेहम के राजा हेरोदेस ने मरवाने की हर संभव कोशिश की, लेकिन वह सफल नहीं हो पाया। जब यीशु बड़े हुए तो जगह-जगह जाकर लोगों को मानवता और शांति का संदेश देने लगे। उन्होंने धर्म के नाम पर अंधविश्वास फैलाने वाले लोगों को मानव जाति का शत्रु कहा। उनके संदेशों से परेशान होकर धर्म पंडितों ने उन्हें धर्म की अवमानना का आरोप लगाकर उन्हें मौत की सजा दी।

यीशु को कई तरह की यातनाएं दी गयीं। यीशु के सिर पर कांटों का ताज रखा गया। इसके बाद यीशु क्रूस (सलीब) को अपने कंधे पर उठाकर गोल गोथा नामक जगह ले गए। जहां उन्हें सलीब पर चढ़ा दिया गया। जिस दिन यीशु को सूली पर चढ़ाया गया, वह शुक्रवार का दिन था। तीन घंटे बाद यीशु ने ऊंची आवाज में परमेश्वर को पुकारा- हे पिता मैं अपनी आत्मा को तेरे हाथों सौंपता हूं। इतना कहकर उन्होंने अपने प्राण त्याग दिए।

मानवता के लिए बलिदान का वो दिन गुड फ्राइडे के रूप में मनाया जाता है। ईसाई धर्म के अनुयायी यीशु को उनके त्याग के लिए याद करते हैं। इसके बाद यीशु को कब्र में दफना दिया गया, लेकिन ईश्वरीय कृपा से तीन दिन बाद यानी रविवार को यीशु पुन: जीवित हो उठे। कहते हैं पुन: जीवित होने के बाद यीशु चालीस दिन तक अपने शिष्यों और मित्रों के साथ रहे और अंत में स्वर्ग चले गए।

Happy Good Friday 2017 History  In Hindi

साल 2017 में गुड फ्राइडे 14 अप्रैल को मनाया जाएगा। गुड फ्राइडे के दिन ईसा मसीह को क्रॉस पर लटकाया गया था। उनपर आरोप लगाए गए थे कि वह पाखंड कर रहे हैं और खुद को ईश्वर का पुत्र बता रहे हैं। गुड फ्राइडे एक शौक दिवस होता है लेकिन क्योंकि इस दिन ईसा मसीह की मृत्यु हुई थी इस कारण इसे “गुड” फ्राइडे कहकर संबोधित किया जाता है।

गुड़ फ्राई डे के दिन विशुआ पर्व में सत्तू गुड़ का भोजन ग्रहण करेंगे और अपने दिवंगत पूर्वज के नाम पर मिट्टी के घड़ा में जल भर कर, टिकोला व हाथ का पंखा आदि गरीबों को दान करते हैं.गरु द्वारा में बैशाखी उत्सव मनाया जाएगा सिख समुदाय में वैशाखी उत्सव का विशेष महत्व हैं |1699 में गुरु गोविंद सिंह ने वैशाखी के दिन देश की एकता, अखंडता व धर्म निरपेक्षता के लिए पंज प्यारे को अमृत पिला कर जीवित करने का कार्य किया. इसे तभी से साधना दिवस के रूप में मनाते आ रहे हैं.

भारत में ही नहीं दुनियाभर में गुड फ्राइडे और ईस्टर को सेलिब्रेट किया जाता है। इन दोनों दिन लोग इस दिन चर्च में जाते हैं और उनके धर्म से संबंधित गीत गाते हैं, प्रार्थना करते हैं, कहीं जगह नृत्य और अन्य कार्यक्रम के आयोजन होते हैं। सभी एक दूसरे को गिफ्ट्स, फ्लावर्स, कार्ड, चाॅकलेट, केक देकर विश करते हैं। गुड फ्राइडे के दिन कई देशों में हाॅलीडे रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *