January 18, 2017
Latest News Update

भारतीय गणतंत्र दिवस पर निबंध हिंदी में

इस बार 26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि के लिए आबू धाबी के सेख मोहम्मद बिन जायेद अल नाह्यान को आमंत्रित किया गया हैं | 26 जनवरी के दिन प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी के साथ आबू धाबी के सेख मोहम्मद बिन जायेद अल नाह्यान नगर आएगे |

भारतीय गणतंत्र दिवस पर निबंध

भारतीय इतिहास में 26 जनवरी का दिन बहुत हि महत्वपूर्ण हैं 26 जनवरी 1950 को हमारे देश का संविधान लागु हुआ था इस दिन हमारे देश को एक सम्पूर्ण प्रभुत्वसम्पन्न धर्मनिरपेक्ष, समाजवादी, और लोकतांत्रिक, गणराज्य के रुप में घोषित किया गया था अर्थात भारत पर भारत के लोगों का राज होगा उस पर कोई बाहरी शक्ति शासन नहीं करेगी। इस घोषणा के साथ ही दिल्ली के राजपथ पर भारत के राष्ट्रपति के द्वारा झंडा फहराया गया साथ ही परेड तथा राष्ट्रगान से पूरे भारत में जश्न मनाया गया। इस महत्वपूर्ण दिवश को हमारा पूरा देश हर वर्ष बड़ी हंसी ख़ुशी के साथ मनाता आ रहाँ हैं और आने वाली पीडिया भी इस दिन को मनाती रहेगी |

गणतंत्र दिवस पर निबंध – Republic Day Essay in Hindi 26 जनवरी पर निबन्ध

हमारी मातृभूमि लंबे समय तक ब्रिटीश शासन की गुलाम रही जिसके दौरान भारतीय लोग ब्रिटीश शासन द्वारा बनाये गये कानूनों को मानने के लिये मजबूर थे, भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों द्वारा लंबे संघर्ष के बाद 15 अगस्त 1947 को भारत को आजादी मिली। लगभग ढाई साल बाद भारत ने अपना संविधान लागू किया और खुद को लोकतांत्रिक गणराज्य के रुप में घोषित किया। लगभग 2 साल 11 महीने और 18 दिनों के बाद 26 जनवरी 1950 को हमारी संसद द्वारा भारतीय संविधान को पास किया गया। खुद को संप्रभु, लोकतांत्रिक, गणराज्य घोषित करने के साथ ही भारत के लोगों द्वारा 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रुप में मनाया जाने लगा।

भारत में निवास कर रहे लोग और विदेश में रह रहे भारतीयों के लिय गणतंत्र दिवस का उत्सव मनाना सम्मान की बात है। इस दिन का खास महत्वता है और इसमें लोगों द्वारा कई सारे क्रिया-कलापों में भाग लेकर और उसे आयोजित करके पूरे उत्साह और खुशी के साथ मनाया जाता है। इसका बार-बार हिस्सा बनने के लिये लोग इस दिन का बहुत उत्सुकता से इंतजार करते है। गणतंत्र दिवस समारोह की तैयारी एक महीन पहले से ही शुरु हो जाती है और इस दौरान सुरक्षा कारणों से इंडिया गेट पर लोगों की आवाजाही पर रोक लगा दी जाती है जिससे किसी तरह की अपराधिक घटना को होने से पहले रोका जा सके। इससे उस दिन वहाँ मौजूद लोगों की सुरक्षा भी सुनिश्चित हो जाती है।

पूरे भारत में इस दिन सभी राज्यों की राजधानीयों में स्कुलो में और सभी सरकारी दफ्तरों में 26 जनवरी का उत्सव बड़ी धूम धाम से मनाया जाता हैं और राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली में इस उत्सव पर खास प्रबंध किये जाते है। कार्यक्रम की शुरुआत राष्ट्रपति दवारा झंडा रोहण और राष्ट्रगान के साथ होती है। इसके बाद तीनों सेनाओं द्वारा परेड, राज्यों की झाकियोँ की प्रदर्शनी, पुरस्कार वितरण, मार्च पास्ट आदि क्रियाएँ होती है। और अंत में पुरे लोग राष्ट्रगान “जन गण मन गण” की ध्वनि से पुरे रष्ट्र को सम्बोधित किया जाता हैं

इस पर्व को मनाने के लिये स्कूल और कॉलेज के विद्यार्थी बेहद उत्साहित रहते है और इसकी तैयारी एक महीने पहले से ही शरु कर देते है। इस दिन विद्यार्थीयों खेल या शिक्षा के दूसरे क्षेत्रों में बेहतर प्रदर्शन करने के लिये पुरस्कार, इनाम, तथा प्रमाण पत्र आदि से सम्मानित किया जाता है। पारिवारिक लोग इस दिन अपने दोस्त, परिवार,और बच्चों के साथ सामाजिक स्थानों पर आयोजित कार्यक्रमों में हिस्सा लेते है। और उत्सव का आनंद उठाते हैं | सभी सुबह 8 बजे से पहले राजपथ पर होने वाले कार्यक्रम को टी.वी पर देखने के लिये तैयार हो जाते है। इस दिन सभी को ये वादा करना चाहिये कि वो अपने देश के संविधान की सुरक्षा करेंगे, देश की समरसता और शांति को बनाए रखेंगे साथ ही देश के विकास में सहयोग करेंगे।

जय भारत ,जय हिन्द



More News Like Our Facebook Page Follow On Google+ And Alert on Twitter Handle


User Also Reading...
RRB NTPC Result 2016 IBPS Clerk Recruitment Rio Olympic 2016
JobAlert Android Apps Punjabi Video
HD Video Health Tips Funny Jokes

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*