December 3, 2016
Latest News Update

राखी की तैयारिया जोरो पर ये है रक्षाबंधन के शुभ मुहर्त

राखी की तैयारिया जोरो पर ये है रक्षाबंधन के शुभ मुहर्त

rakhi

राखी की तैयारिया जोरो पर ये है रक्षाबंधन के शुभ मुहर्त
भाईयों की कलाई के लिए बहनें तरह-तरह की राखियां खरीद रही हैं।18 अगस्तको मनाए जाने वाले रक्षा बंधन त्योहार को लेकर बहने अभी से ही तैयारियों में जुट गई हैं। बाजार में राखियों की कई वैरायटी उपलब्ध हैं, बाजार में कुमकुम और चावल से बनी भगवत गीता के आकार की राखियां सबको लुभा रही हैं।जिसमें मोती फैंसी राखियों की डिमांड ज्यादा है।बाज़ार के हाल चाल के अनुसार हमारे नजदीक के क्षेत्र झुंझुनू ,चिडावा ,पिलानी ,सुरजगढ ,खेतड़ी ,मंडवा बिसाऊ ,नवलगढ़ ,परसरामपुरा  ,उदयपुरवाटी ,मावता ,नीमकाथाना ,सीकर ,नेवरी मैनपुरा,गुढ़ागौडज़ी इत्यदि शहरों के व्यवसायो से बातचीत में उन्होंने बताया कि इस बार राखी पर्व को लेकर बाजार में अच्छी चहल-पहल देखी जा रही पांच साल पहले तक स्पंज से बनी राखियां बिकती थीं। अब उसका आकर्षण खत्म हो चुका है। अब पारम्परिक राखियों की ओर ग्राहकों का रूझान है। पारम्परिक रखियों से मन में संस्कृति और धार्मिक भावना झलकती है।हरवर्ष राखियों की नई-नई डिजाइनें आती हैं। इस बार भी राजस्थान की संस्कृति से जुड़ी चूड़ा राखी विशेष रूप से बाजार में आई है। इसे भाभी की कलाई पर बांधा जाता है। और यह जयपुर के बाजर में जोरो से धूम मचा रही !इस के अलावा बाज़ार में मोदी राखी भी बच्चो व महिलाओं के मन को लुभा रही है इस की विशेष तोर से मांग देखी गई है साथ ही इलेक्ट्रॉनिक आइटम टीवी कलाकारों के फोटो लगी राखियां इत्यादी !वहीं त्योहार को लेकर अब बाजार भी पूरी तरह से सज चुका है। रविवार को भी दिनभर बाजार में रौनक रही तथा राखियों गिफ्ट आइटम्स की दुकानों पर भीड़ रही। बच्चों को लुभाने के लिए उनके पसंदीदा किरदार की राखियों भी बाजार में मिल रही है।दुकानों पर डोरेमान, स्पाइडर मैन, छोटा भीम, मोटू-पतलू सहित कई तरह की राखियां सजी हैं। रविवार को बहनें राखी खरीदने के लिए बाजार में नजर आई। गिफ्ट की दुकान हो या राखियों की, सभी जगह खरीदारों की भीड़ नजर रही है। वहीं बाजार में मिठाइयों की बिक्री भी बढ़ गई है। ऐसे में व्यापारियों को आने वाले दिनों में अच्छी ग्राहकी होने की उम्मीद है। शहर के एक राखियों के व्यापारी ने बताया कि मार्केट में 5 रुपए की रेशम की डोर राखियां मिल रही हैं। इससे ग्राहकों को राखी खरीदने में अधिक च्वाइस मिल रही है।

राखी बांधने का शुभ मुहूर्त
इस वर्ष 2016 में रक्षा बंधन का त्यौहार 18 अगस्त, को मनाया जाएगा. पूर्णिमा तिथि का आरम्भ 17 अगस्त 2016 को हो जाएगा. परन्तु भद्रा व्याप्ति रहेगी. इसलिए शास्त्रानुसार यह त्यौहार 18 अगस्त को 5:55 से 14:56 या 13:42 से 14:56 तक मनाया जा सकता है.
सामान्यत: उतरी भारत जिसमें पंजाब, दिल्ली, हरियाणा आदि में प्रात: काल में ही राखी बांधने का शुभ कार्य किया जाता है. परम्परा वश अगर किसी व्यक्ति को परिस्थितिवश भद्रा-काल में ही रक्षा बंधन का कार्य करना हों, तो भद्रा मुख को छोड्कर भद्रा-पुच्छ काल में रक्षा – बंधन का कार्य करना शुभ रहता है. शास्त्रों के अनुसार में भद्रा के पुच्छ काल में कार्य करने से कार्यसिद्धि और विजय प्राप्त होती है. परन्तु भद्रा के पुच्छ काल समय का प्रयोग शुभ कार्यों के के लिये विशेष परिस्थितियों में ही किया जाना चाहिए.

भैया -भाभी के नाम की राखी

हाथ में पांच सौ रुपये कीमत की भइया-भाभी नाम की राखी इस वक्त सबसे कीमती यह राखी एक थाल में बंद है। जिसमें भइया और भाभी दोनों की राखियों के साथ सिंदूर, चावल, हल्दी, नारियल व मिश्री पैक है। इस वर्ष पर्व के नजदीक स्वतंत्रता दिवस पर्व पड़ा है इसके चलते राखी के बीच तिरंगा बना है। यह सैनिकों के अलावा आम लोगों के बीच खासी चर्चित है।

एंग्रीबर्ड डोरेमोन की राखी

बाजार में राखियों की दुकान पर बच्चों की पसंद का भी पूरा ख्याल रखा गया हैं। बच्चों के लिए इस बार बाजार में एंग्री बर्ड, डोरेमोन, बेबी डॉल छोटा भीम के प्लास्टिक मॉडल वाली राखियां मार्केट की रौनक बढ़ा रही हैं। राखी के गिफ्ट पैक में इलेक्ट्रॉनिक टॉय रिवाल्वर भी शामिल है। इस रिवॉल्वर से लेसर किरणें निकलती हैं, तो टॉर्च से रोशनी भी होती है। साथ ही छोटा भीम, बाल हनुमान, स्पाइडरमैन, बैटमैन, बेंटेन, पॉवर रेंजर, सुपरमैन समेत कार्टूनों के कई पात्र शामिल हैं इनमें भी लगी लाइट्स बच्चों को अपनी और आकर्षित कर रही है।

कई वैरायटियों में राखियां

इसके अलावा बाजार में राखियों की कई वेरायटियां उपलब्ध हैं। इसमें क्रिस्टल मोती, जरी जरदोजी, मोती स्टोन, गुजराती डोरी, सेटिंग स्टोन, गुजराती क्रिस्टल की राखियां खास हैं। इसके अलावा चांदी रुद्राक्ष की राखियां भी आकर्षण का केंद्र हैं। डोरियों की वैरायटी की भी लंबी श्रंृखला है।
मोदी राखी भी लुभा रही बच्चों को

modi1

महिला-पुरुषों के लिए कपल राखी की भी बाजार में डिमांड है। कार्टून में छोटा भीम, माेटू-पतलू बच्चों को लुभा रहे हैं। मोदी राखी भी बच्चों की पहली पसंद बनी हुई है। युवाआें में हैंडमेड पारम्परिक राखियों की डिमंाड है। बाजार में 10 रुपए से लेकर 200 रुपए तक राखी उपलब्ध है।
पारम्परिक राखियों से झलकती हैं संस्कृति

rakhi1

बाज़ार के हाल चाल के अनुसार हमारे नजदीक के क्षेत्र झुंझुनू ,चिडावा ,पिलानी ,सुरजगढ ,खेतड़ी ,मंडवा बिसाऊ ,नवलगढ़ ,परसरामपुर ,उदापुरवाटी ,मावता ,नीमकाथाना ,सीकर ,नेवरी मेनपुरा,गुढा गोड़ाजी इत्यदि शहरों के व्यवसायो से बातचीत में उन्होंने बताया कि इस बार राखी पर्व को लेकर बाजार में अच्छी चहल-पहल देखी जा रही पांच साल पहले तक स्पंज से बनी राखियां बिकती थीं। अब उसका आकर्षण खत्म हो चुका है। अब पारम्परिक राखियों की ओर ग्राहकों का रूझान है। पारम्परिक रखियों से मन में संस्कृति और धार्मिक भावना झलकती है।हरवर्ष राखियों की नई-नई डिजाइनें आती हैं। इस बार भी राजस्थान की संस्कृति से जुड़ी चूड़ा राखी विशेष रूप से बाजार में आई है। इसे भाभी की कलाई पर बांधा जाता है। और यह जयपुर के बाजर में जोरो से धूम मचा रही !इस के अलावा बाज़ार में मोदी राखी भी बच्चो व महिलाओं के मन को लुभा रही है इस की विशेष तोर से मांग देखी गई है

 रक्षाबंधन को बनाये जाने वाले मुख्य पकवान

Parwal ki Mithai-परवल की मिठाई
नारियल बर्फी – Coconut Burfi
पूरन पोली- Pooran Poli
केसरिया श्रीखन्ड – Kesariya Shrikhand
काजू कतली – Kaju Barfi
रस मलाई Ras Malai
अनरसे की गोली – Anarse ki Goli
बालूशाही – BaluShahi
अनरसे – Anarse
कलाकंद – Kalakand
सूखी सेवई Sukhi Sevai
मालपुआ Maalpua
सेवई खीर रक्षाबंधन के लिए – Sevai Kheer for Rakhi
भुने चने के लड्– Bhune Chane Ke Laddu – Sattu ka laddu

राखी के बारे  में अधिक जानकारी के लिय यहाँ क्लिक करे 

Popular Topic On Rkalert

वृंदावन में आज आएंगे बाल गोपाल धूमधाम से मनाई जाये... वृंदावन में आज आएंगे बाल गोपाल धूमधाम से मनाई जायेगी जन्माष्टमी वृंदावन में आज आएंगे बाल-गोपाल ...


More News Like Our Facebook Page Follow On Google+ And Alert on Twitter Handle


User Also Reading...
RRB NTPC Result 2016 IBPS Clerk Recruitment Rio Olympic 2016
JobAlert Android Apps Punjabi Video
HD Video Health Tips Funny Jokes

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


Read All Entertainment And Education Update in Hindi