December 4, 2016
Latest News Update

दीपावली पर एसएमएस,फनी जोक्स,बधाई सन्देश,कविताएँ

दीपावली पर एसएमएस,फनी जोक्स,बधाई सन्देश,कविताएँ

दीवाली का त्योहार व्यापक रूप से भारत में हिंदुओं द्वारा मनाया जाता है। 2016 में दीवाली 30 अक्टूबर 2016 को मनाई जाएगी | दीवाली की पार्टी बड़ी धूम धाम से युवकों व युवतियों द्वारा मनाई जाती है|जबकि इसे बड़े बुजर्गी का भी बड़ा महत्व है| जैसे ही दीपावली का त्यौहार संपन होता है| नया वर्ष शुरू हो जाता है| आधुनिक प्रवृत्ति के साथ कुछ नौजवान दिवाली को अपने अंदाज में मानते है | दीवाली पर नृत्य, दीवाली उपहार और ग्रीटिंग कार्ड दीवाली के बधाई sms, पाठ संदेश, हैप्पी दीवाली sms और दीवाली sms इत्यादि

दीपावली

रोशनी का त्योहार दीपावली 2016

दीपावली रोशनी का त्योहार खुशी और समृद्धि का अग्रदूत माना जाता है। आने वाले दिनों के माध्यम से आप के साथ रहने के रूप में दीवाली का पवित्र अवसर आया है| वातावरण खुशमिजाजी प्यार की भावना के साथ भरा हुआ है, यह त्योहार अपने साथ चमकदार सौंदर्य को लाती है| उम्मीद है की इस बार भी दिवाली आपके दामन में खुशिया की बहार लाये ।आप सभी की दीपावली और नए साल पर ढेर सारी शुभकामनाएं।

“हैप्पी दीपावली” Best wishes on Diwali and New year.

दीपावली के त्योहार पर फनी एसएमएस,

दिवाली पे humari दुआ है ki apka हर sapnna पुरा हो,
दुनिया ke unche mukam apke हो,
शोहरत की बुलन्दियो पर नाम आपका हो,
Wish u a very Happy Diwali!


श्री राम जी आपके घर सुख ki barsat करेन,
दुखो का नास करेन।
प्रेम ki phuljhari waanar आपके घर को रोशन करे। ]
रौशनी ke diye aapki jingagi मुझे khusiya layen.
हैप्पी दीपावली


अंधेरा हुआ dur रात ke साथ
नई शुभ के साथ दीवाली आयी
अब आंखे खोलो और देख़ो एक सन्देश आया है|
दिवाली की शुभ kamna साथ लायी है।
“हैप्पी दिवाली”

d1


For this, is a special time when family
And friends get together,for fun.
Wishing laughter and fun to cheer your days,
In this festive season of diwali and always!!!!!!!!
“Happy Deepavali”


Diwali Parva hai Khushio ka,
Ujalo ka, Laxmi ka…. Is Diwali Aapki Jindagi khushio se bhari ho,
Duniya ujalo se roshan ho, ghar par Maa Laxmi ka Aagman ho…
Happy Diwali


आज कुछ ghabraye se lagte हो, 

आज कुछ ghabraye se lagte हो,

ठंडा mein kapkapaye se lagte हो,
Nikhar kar आयी है सूरत aapki,
बहुत डिनो बाद nahaye se lagte हो?


Aey mere SMS mere dost ke pass jana,

Aey मेरे एसएमएस मेरे दोस्त के पास जना,
अगर wo सो रहा हो तो शोर मत मचाना
जब वो जागें तो धीरे से ‘Muskarana’,
फिर कहना ‘KANJUS’ एसएमएस करो!


Hamari dosti ka kitna faida uthhatay ho

हमारी दोस्ती ka कितना फ़ायदा उठाया हो
1msg bhej ke10 मुक्त पातें हो
हमारे दिल पर क्यों जुलम ढाते हो
हमारे संदेश अग्रेषित kar k नये नये दोस्त बनाते हो


एक भिखारी- ओह सुंदरी! अँधा हु
एक भिखारी – ‘ ओह सुंदरी! अँधा हु
सवा पाच रूपए देदो
‘पति अपनी से कहता है देदो आपको
सुंदरी बोला है हर हाल में अँधा है|

दिवाली


 

दीवाली से संबंधित कविताओं का एक संग्रह

दीवाली रोशनी का त्यौहार’ है| मुख्य रूप से यह एक हिन्दू त्यौहार है दुनिया भर में सभी क्षेत्रों में हिंदू समुदाय उपस्थिति है वो इस त्यौहार को हर कोई बड़ी धूम धाम से मनाता है| इस त्यौहार के साथ आतिशबाजी,मिठाई, उपहार,प्रार्थना,परंपराओं,सांस्कृतिक आदि हर भारतीय के लिए जरुरी है| अपनी इस दिवाली समारोह में वृद्धि करने के लिए, यहाँ हम आप के लिए दीवाली संबंधित सुंदर कविताओं का एक संग्रह लाये है।दीवाली कविता अपने मित्रों और प्रियजनों के साथ साझा करने के लिए ये शानदार कविताओं का उल्लेख दिया जा रहा है दीवाली की ये कविताओ का सुंदर संग्रह के साथ दीवाली की ख़ुशी का आनंद लें। ये दीपावली आपको और आपके सभी प्रियजनों को आनंद व ख़ुशी भरे!
हैप्पी दीवाली!

ये दिवाली, वो दिवाली

ये दिवाली, वो दिवाली
घर में खुशियाँ, लाये दिवाली !
बम चकरी, और फूलझरी
सब से ये, बजवाये दिवाली !

सबको पास, बुलाये दिवाली
अपनों को, मिलवाये दिवाली !
लड्डू मिशरी, और मिठाई
सबको ये, खिलवाये दिवाली !

पटाखें छीनना, सिखाये दिवाली
पापा से डाँट, खिलाये दिवाली !
पटाखों की आवाज, सुनाये दिवाली
कान सुन्न कर जाये, हर दिवाली !

हसते हसते, रुलाये दिवाली
घर कि याद, दिलाये दिवाली !
जैसा चाहो, वैसा बनेगी
अच्छी या, बूरी दिवाली !

खुशियाँ मनाए, हाथ बटाए
सबसे अच्छी, उनकी दिवाली !
ताश जुआ, और जुआरी
इस से बुरी क्या, होगी दिवाली !

सबको सन्देश, भिजवाये दिवाली
रुठे को मनाये, ये दिवाली !
शान्ति से मनाओ, ये दिवाली
वरना हाथ, जलाये दिवाली !

रोना छोड़ मनाओ, ये दिवाली
सबको मुबारक, ये दिवाली !
रौशन की दुआ, पूरी की पूरी
है दिल से, इस दिवाली !


दिवाली आई है

सजाओ अल्पना कि दिवाली आई है
जलाओ दीये कि दिवाली आई है
अँधकार के पुजारी ठोकर खाएँगे
उन्हें रास्ता दिखाओ कि दिवाली आई है।

पतिंगे जल-जल मरेंगे, आँधी में लौ टिमटिमाएगी
घर घर दीये जलेंगे, आँधी भी क्या कर पाएगी
सजाओ अल्पना कि दिवाली आई है
जलाओ दीये कि दिवाली आई है

तम को भगाने, तमस को भगाने
भेदभाव औ दूरियाँ मिटाने दिवाली आई है
सजाओ अल्पना कि दिवाली आई है
जलाओ दीये कि दिवाली आई है|

हमारी आस्था का आयाम दिवाली है,
मैत्री और खुशहाली का पयाम दिवाली है
सजाओ अल्पना कि दिवाली आई है
जलाओ दीये कि दिवाली आई है

प्रकाश तो रहेगा, मिठास भी रहेगी
दिलवाले भी रहेंगे, दिवाली भी रहेगी
सजाओ अल्पना कि दिवाली आई है
जलाओ दीये कि दिवाली आई है|


प्रकाश या अंधकार

सब ओर प्रकाश ही प्रकाश है
पर आँखों में सिर्फ अंधकार है!

मुख पर उल्लास ही उल्लास है
पर ह्रदय में गहरा विषाद है!
अधरों पर मुस्कान ही मुस्कान है
पर वाणी में विष से कड़ुवाहट है!
विश्व तन में प्राण ही प्राण हैं
पर मन उसका निष्प्राण है!
सब ओर प्रकाश ही प्रकाश है
पर आँखों में सिर्फ अंधकार है!

मानव-मन में घृणा ही घृणा है
पर स्नेह पाने की आस है!


माटी के दीपक

आलिंगन कर आँधी का
तूफ़ानों को बाहों में भर ले
ओ नन्हें माटी के दीपक
सागर को पलकों में धर ले।

तेरे लिए नहीं आँचल की
ओट आसरा देने वाली,
ताल ठोकती लड़ने आई
तुझसे आज अमावस काली
जलता चल अँधियारों में
मद्धम प्रकाश का धीमा स्वर ले।

माना अँधियारों ने तुझ पर
बारंबार प्रहार किए हैं
इसीलिए तो हमने लाखों
सूरज तुझ पर वार दिए हैं
ले मेरे संघर्षों की धरती
अरमानों का अंबर ले|


धरा पर गगन

खुशियों की बौछार खिलखिलाता मौसम आया
उड़ता है मन मगन धरा पर गगन उतर आया

देवालय पर पूर्ण चन्द्रमा अनहोनी यह बात
दीप जल रहे लगता निकली तारों की बारात
फुलझड़ियों की माला नीहारिकाओं का आभास
फूट रहे पटाखे बम चलते कदमों के पास

युवकों की शरारत मस्ती का आलम छाया
उड़ता है मन मगन धरा पर गगन उतर आया

चरणों में लक्ष्मी मैया के झुक झुक जाता माथ
मिठाइयाँ सूखे मेवे ले लेते भर भर हाथ
भागे दुख जंजाल छा गई दीप पर्व की माया
गोल घूम रहे ग्रह नक्षत्र स्वर्ग यहां लो आया

इन्द्रलोक की उर्वशी का नृत्य उतर आया
उड़ता है मन मगन धरा पर गगन उतर आया

खेल रहे खिलौनों से बन वायुयान के चालक
नई नई पोशाक अकड़ते खेल रहे हैं बालक
इंतजार था महीनों से कि कब आये दिवाली
लटक मटकते झूम बजाते दो हाथों से ताली

तोतली बोली शिशुओं की कितना आनन्द समाया
उड़ता है मन मगन धरा पर गगन उतर आया।


It’s the occasion to throng the temples,
Pray to the Gods and give them offerings,
It’s an opportunity to entreat the deities,
To bless us all and rid us of sufferings.


It’s the day to light the diyas,
Ignite the rockets and burst crackers,
But it’s also the time to be safe,
From the fireworks and all the sparklers.


It’s the season to pay a visit,

To all our friends and relations,
To hand them over sweets and presents,
Diwali is our splendid chance.


But while you spend a time of joy,

Don’t think it’s merriment all the way,
Out there wait many of those,
For whom it’s no time to be gay.


Denied of laughter and smiles for days,

They know not what it is to enjoy,
Can you not share something you have,
Can you not bring them a little joy?


When you can make someone else smile

When you can be someone’s ally
That’s when you can yourself be glad
That’s when you’ll have a HAPPY DIWALI!
Deepavali


The clear blue sky,

The scent of flowers,
The colours of Rangoli,
And the sound of crackers.
साफ नीले आसमान,
फूलों की खुशबू,
रंगों की रंगोली,
और पटाखे की आवाज।


The gifts and sweets from dear ones,

And the getting of their love,
The light of the candles below,
And the dazzling fireworks up above.


Lighting lamps at our homes,

Making the less fortunate smile,
Putting on new apparels,
Show our friends some


Paying respects to the gods,

And decorating for them the thali,
This is what the occasion is all about,
This is the spirit of Deepavali.


download diwali ki kavita डाउनलोड दिवाली की कविता

पावन जलसा दीवाली का,
सब मिलकर के खूब मनाओ
धनदेवी गणपति को पूजो,
खीलें और बताशे खाओ।

कार्तिक मास अमावस आई,
कुछ-कुछ शीत साथ ले आई
मौसम है सुंदर सुखदाई,
कृषकों ने कुछ करी बुवाई
अन्नाभाव देश में भारी,
श्रम से पैदावार बढ़ाओ।

राजा राम हुए बनवासी,
संग सौमित्र सिया भी आई
कानन में निज कुटी बनाई,
दैत्यों से फिर हुई लड़ाई
उनका वध कर गृह को आए,
नागरिकों ने दीप जलाए
तब से यह आरंभ हुआ है,
राम-नाम का यश फैलाओ।

कुछ ही दिन पहले से करते,
निज-निज गृह की लोग सफ़ाई
कुछ करते चूना-कलई से,
कुछ मिट्टी से करें पुताई
प्रेम-भाव से मन निर्मल कर,
निज-निज कुटिया स्वच्छ बनाओ
बालक-वृद्ध सभी कहते हैं,
आओ मिलकर पर्व मनाओ।

दीवाली तो घर-घर होती,
लक्ष्मी-लंबोदर की पूजा
वे कहते हैं हमसे बढ़कर,
पुण्यवान ना कोई दूजा
दीप जलाते, मोद मनाते,
और पटाखे खूब चलाते
मधुर-मधुर पकवान बनाकर,
खुद खाओ औरों को खिलवाओ।

दीवाली के शुभ अवसर पर,
जुआ होता मदिरा छनती
और इसी से बात-बात पर,
झगड़ा होता, लाठी चलती
यदि ये कभी पकड़ भी जाते,
पीटे जाते, लूटे जाते
कैसा रोग भयंकर है यह,
फिर भी लोग नहीं शरमाते
मदिरा-पान छोड़कर मित्रों!
जुए पर तुम रोक लगाओ।

भ्रष्टाचार हर जगह फैला,
बहुत बढ़ रहे दस्यु-लुटेरे
बहु पीड़ित करते जनता को,
प्रतिक्षण रहते हैं वे घेरे
शासक जो शासन करता है,
वह है अति ही अत्याचारी
अतिशय भार बढ़ा अवनी पर,
धरा दुखित होती बेचारी
शेषनाग की शैया तज कर,
आओ शीघ्र खलों को मारो
गदा ठोककर चक्र चला कर,
शांति भरो सुजनों को तारो

पावन जलसा दीवाली का,
सब मिलकर के खूब मनाओ
धानदेवी गणपति को पूजो,
खीलें और बताशे खाओ।


दिवाली पर दोस्त को शायरी

दोस्ती अच्छी हो तो रंग़ लाती है
दोस्ती गहरी हो तो सबको भाती है
दोस्ती नादान हो तो टूट जाती है
पर अगर दोस्ती अपने जैसी हो
तो इतिहास बनाती है।

दीपावली के बारे ज्यादा जानकारी प्राप्त करने  के लिए यहाँ क्लिक करे 

दीपावली से जुड़े पंचपर्व का महत्व पूजन विधि और कथा

दीपावली पर घर की सजावट और वास्तु टिप्स – दीवाली पर घर की सजावट ऐसे करे की लक्ष्मी ठहर जाये

धनतेरस, पूजन विधि, व्रत, कथा, और शुभ मुहूर्त, जाने

जानिए धनतेरस के महापर्व को – राशि के अनुसार करे खरीददारी , क्यो करते हैं धनतेरस पर बर्तनों की हि खरीददारी जानिए

शुभ दीवाली की हार्दिक शुभकामनाएँ पर हिंदी में विशेष एस एम एस मेसेज और शायरी 2016

 

 

 

Popular Topic On Rkalert

शुभ दीवाली की हार्दिक शुभकामनाएँ पर हिंदी में विशे... शुभ दीपावली पर हिंदी में शायरी Happy Diwali in Hindi poetry शुभ दीवाली की हार्दिक शुभकामनाएँ | ...


More News Like Our Facebook Page Follow On Google+ And Alert on Twitter Handle


User Also Reading...
RRB NTPC Result 2016 IBPS Clerk Recruitment Rio Olympic 2016
JobAlert Android Apps Punjabi Video
HD Video Health Tips Funny Jokes

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


Read All Entertainment And Education Update in Hindi