महात्मा गाँधी जयंती पर निबन्ध व गाँधी जयंती पर भाषण

गाँधी जयंती भाषण : आदरणीय प्रधानाध्यापक शिक्षकगण और मेरे प्यारे दोस्तों आप सभी को 2 अक्टूबर की सुबह का नमस्कार हम सभी जानते है की गांधी जयंती 2 अक्टूबर को हर साल मनाई जाती है इस दिन सभी विद्यालयों और कोलेज में राष्ट्रपिता गांधीजी के जीवन उनके विचारों पर कविता भाषण प्रस्तुत किये जाते है गाँधी जयंती एक ऐसा अवसर है जिसमे हमे एक ऐसें महान महापुरुष को याद कर उनकी राह पर चलने का संकल्प करना चाहिए जिन्होंने सम्पन्न स्वतंत्र और एक स्वच्छ भारत की कल्पना की थी आज हम हमारे देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती मनाने के लिए यहाँ एकत्रित हुए है गांधी जयंती के इस पावन अवसर पर आज 2 अक्टूबर का दिन है आज ही के दिन 1869 को गुजरात राज्य के पोरबंदर जिले में एक ऐसे महापुरुष का जन्म हुआ था, जिन्होंने सत्य और अहिंसा के पथ पर आजीवन चलते हुए विशव के सबसे ताकतवर सम्राज्यी शक्ति ब्रिटेन को परास्त करने में सफलता अर्जित की थी गुजराती ब्राह्मण परिवार में जन्मे महात्मा गांधी जी जिनका पूरा नाम मोहनदास करमचन्द गांधी जी था इनके पिताजी का नाम करमचन्द और माता जी का नाम पुतलीबाई था गाँधी जी का मात्र 13 वर्ष की आयू में इनका विवाह कस्तूरबा के साथ हो गया था गाँधी की शिक्षा इन्होने सुरुआती शिक्षा अपने जिले के ही एक विध्यालय से ही प्राप्त की थी आगे की पढ़ाई के लिए इन्हें इंग्लैंड भेज दिया गया जहाँ से बैरिस्टर वकालत की पढ़ाई पर भारत लौटे महात्मा गांधी ने कुछ समय तक अहमदाबाद में वकालत की एक केस के सिलसिले में उन्हें दक्षिण अफ्रीका जाना पड़ा गया था.
गांधीजी की अफ्रीका यात्रा उनके जीवन का अहम मोड़ था साउथ अफ्रीका में मूल निवासियों तथा प्रवासी भारतीयों के साथ वहां की गोरी सरकार के अत्याचार का सामना इन्हें भी करना पड़ा एक बार रेल यात्रा के दौरान वे गोरो लोगों के डिब्बे में बैठ गये थे रंगभेद की निति के चलते अंग्रेज लोगों ने गांधीजी को डिब्बे से बाहर कर दिया इस घटना से आहत होकर उन्होंने दक्षिण अफ्रीका में ही रंगभेद के खिलाफ सत्याग्रह शुरू कर दिया कुछ हद तक वहां समानता की स्थति बनने के बाद गांधी 1915 में भारत वापिस लौट आए
खेड़ा और चम्पारण नामक क्षेत्रों में गाँधी जी का योगदान  :-
जब गांधीजी भारत लौटे तो किसान नेताओं ने उनका ध्यान स्थानीय नील व्यापरियों तथा जमीदारों द्वारा कृषकों के शोषण की घटनाओं के बारे में उजागर व जानकारी करवाया किसानों तथा मजदूरों के शोषण के खिलाफ इन्होने खेड़ा और चम्पारण नामक क्षेत्रों में किसान आंदोलनों का नेतृत्व किया जब अंग्रेज सरकार को इस प्रकार के सत्याग्रह विरोध की जानकारी मिली तो उन्होंने गांधीजी को जेल में बंद करने का आदेश दे दिया मगर किसानों और मजदूरों को मिली एक आशा की किरण को वो किसी भी सूरत में समाप्त नही होने देना चाहते थे उसी पाकर से उन्होंने अपने विरोध आंदोलन को सरदार वल्लभभाई पटेल के नेतृत्व में जारी रखा तथा गांधीजी को रिहा करने को लेकर आंदोलन का अल्टीमेटम जारी कर दिया गया था इसी स्थति को समझते हुए अंग्रेज सरकार ने आन्दोलन की सभी मांगो को मानते हुए महात्मा गांधी को जेल से रिहा कर दिया इस तरह भारत में पहले राजनितिक संघर्ष में मिली सफलता के बाद सत्य और अहिंसा के दम पर इन्होने भारत को आजाद करवाने का संकल्प लिया था
जलियावाला बाग गांधीजी का योगदान  :-
13 अप्रैल 1919 को पंजाब के जलियावाला बाग नामक स्थान पर अंग्रेज सरकार द्वारा हजारों निर्दोष नागरिकों को मारे जाने के विरोध में गांधीजी ने असहयोग आंदोलन शुरू किया इस आंदोलन में सभी भारतीय अधिकारी शिक्षक और अंग्रेजी सेवा में काम करने वाले सभी भारतीयों ने अपने काम का त्याग कर गांधीजी के समर्थन में सड़को पर आए गये थे इसके बाद दांडी नमक सत्याग्रह स्वदेशी आंदोलन हरिजन आंदोलन तथा भारत छोड़ो आंदोलन का नेतृत्व भी गांधीजी ने किया था
भारत की आजादी गांधी जी का योगदान:-
भारत को स्वतंत्रता 15 अगस्त 1947 को मिली इसमे महात्मा गांधी का सबसे बड़ा योगदान था. देश की आजादी के लिए महात्मा गांधी ने अपने जीवन के कई साल जेल की काल कोठरियों में बिताएं तब जाकर भारत को आजादी मिली गांधी जी इतने लोकप्रिय हुए कि लोगों ने इन्हें महात्मा और बापू “राष्ट्रपिता” जैसे उपनामों से पुकारना शुरू किया

You Must Read

15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर विशेष मेसेज और शायरी ह... स्वतंत्रता दिवस पर विशेष देशभक्ति मेसेज और शायरी आजाद की क्रांतिकारी पर शायरी आज़ादी की कभी शाम ...
New Dance Raj Mawar And Janu Rakhi DJ Song 2017 Ch... Hello Friends Watch The New Dance Chamak Chhalo Latest DJ Song By Janu Rakhi , Raj Mawar, Sonika Sin...
जुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर दिवस 7 अगस्त 2017 जीवन... गुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर जीवनी महत्वपूर्ण अनमोल वचन जुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर जीवन परिचय नाम  :...
KARWA CHAUTH Wishes Moonrise time 2017 चंद्रोदय टा... करवा चोथ 8 अक्टूबर 2017 हैं इस दिन महिलाये अपनी सहलियों के पास वह अपने पति या प्रेमी को शुभकामनाये द...
New Dance Jaan Jaatni Haryanvi DJ Song 2017 Rc Upa... Hello Friends Watch The RC New Dance Jaan Jaatni Latest DJ Song By Rc Upadhyay On Mor Music. Song Si...
RC New Dance 2017 Jaan Jaatni Latest DJ Song New H... Hello Friends Watch The RC New Dance Jaan Jaatni Latest DJ Song By Rc Upadhyay On Mor Music. Song Si...
New Dance 70 Ghat Ka Pani Haryanvi DJ Song 2017 Mo... Hello Friends Watch The New Dance 70 Ghat Ka Pani Latest DJ Song By Monika Dancer On Mor Music. Song...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *